पश्चिम बंगाल व केरल में हिंदुओं को जागृत करने के लिए जन जागरण अभियान चलाएगा संघ

विश्व संवाद केंद्र कार्यालय का हुआ शुभारंभ
रोहतक, विसंके। राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के अखिल भारतीय सह-प्रचार प्रमुख नरेंद्र ठाकुर ने पश्चिम बंगाल व केरल में हिंदुओं पर बढ़ रहे हमलों पर चिंता व्यक्त करते हुए कहा कि पश्चिम बंगाल व केरल में हिंदुओं के दमन तथा जेहादी गतिविधियों को बढ़ावा दिया जा रहा है। यह इसी का परिणाम है कि आज इन प्रदेशों में तेजी से हिंदुओं की आबादी कम हो रही है। 1951 की जनगणना के अनुसार पश्चिम बंगाल में हिंदुओं की जनसंख्या 78.45 प्रतिशत थी लेकिन वर्ष 2000 की जनगणना में यहां हिंदुओं की जनसंख्या 70.54 प्रतिशत रह गई। पिछले कुछ वर्षों में पश्चिम बंगाल से लगभग एक करोड़ हिंदुओं का पलायन हुआ है। नरेंद्र ठाकुर रविवार को शहर की चिन्योट कॉलोनी में विश्व संवाद केंद्र में पत्रकारों से बातचीत कर रहे थे। इस अवसर पर उनके साथ उत्तर

भारत माता के चित्र के समक्ष दीप प्रज्वलित करते अखिल भारतीय सह प्रचार प्रमुख नरेंद्र जी

क्षेत्र के क्षेत्रीय कार्यवाह सीताराम व्यास व हरियाणा प्रांत के सह-प्रचार प्रमुख राजेश भी विशेष रूप से मौजूद रहे।
नरेंद्र ठाकुर ने कहा कि पश्चिम बंगाल की सरकार द्वारा हिंदू संस्कृति को खत्म करने के लिए कानून व्यवस्था बिगड़ने का हवाला देते हुए दुर्गा विसर्जन के समय को कम किया गया था लेेकिन बाद में हिंदु समितियों की याचिका पर सुनवाई करते हुए हाई कोर्ट ने पश्चिम बंगाल सरकार को फटकार लगाई थी। केरल में भी यही स्थिति है आए दिन राष्ट्रवादी संगठनों के कार्यकर्ताओं पर हमले किए जा रहे हैं लेकिन केरल सरकार इस तरफ कोई ध्यान नहीं दे रही है। उन्होंने कहा कि पश्चिम बंगाल व केरल सरकार द्वारा मदरसों को तो सहायता प्रदान की जा

कार्यक्रम में मंच पर मौजूद मुख्यातिथि

रही है जबकि शिक्षा भारती द्वारा संचालित स्कूलों को बंद करवाया जा रहा है। उन्होंने बताया कि केरल में हिंदुओं की हो रही हत्याआंे के विरोध में गत माह पूरे देशभर में सामाजिक संगठनों ने जिला स्तर पर विरोध प्रदर्शन किए थे। उन्होंने बताया कि राष्ट्रीय स्वयंसेवक संगठन की कोयम्बटुर मंे आयोजित अखिल भारतीय प्रतिनिधि सभा की बैठक में इस बात का निर्णय लिया गया है कि हिंदुओं पर बढ़ते अत्याचार को रोकने के लिए केरल में जन जागरण अभियान चलाया जाएगा। हरियाणा प्रांत में चल रहे राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के कार्यों पर प्रकाश डालते हुए उन्होंने बताया कि हरियाणा में वर्तमान में 990 स्थानों पर कुल 1648 शाखाएं चलती हैं। इनके अतिरिक्त 280 साप्ताहिक मिलन व 148 मासिक मंडली हैं। ग्रामीण क्षेत्र में 8-10 गांवों के एक समूह को मंडल कहते हैं, ऐसे 847 मंडल हैं जिनमें से 559 में दैनिक शाखा और 201 में मासिक मंडली व सप्ताहिक शाखा लगती हैं। सेवा के क्षेत्र संघ स्वयंसेवकों द्वारा समाज जीवन में अनेकानेक सेवा के प्रकल्प चलाए जा रहे हैं। राष्ट्रीय सेवा भारती के तत्वाधान में चलने वाले हरियाणा के प्रकल्पों की कुल संख्या 452 है। इनमें से शिक्षा के 207, स्वावलम्बन के 130, समरसता 75 और चिकित्सा के 45 प्रकल्प विभिन्न चलाए जाते हैं। सेवा भारती ने इस वर्ष सेवा क्षेत्र में कार्य करने वाली प्रतिभाओं को सम्मानित करने के अनेक कार्यक्रम आयोजित किए हैं।
विश्व संवाद केंद्र कार्यालय का हुआ शुभारंभ
शहर की चिन्योट कॉलोनी में रविवार को विश्व संवाद केंद्र कार्यालय का शुभारंभ किया गया। कार्यालय का शुभारंभ राज्य सहकारिता मंत्री मनीष ग्रोवर तथा नरेंद्र ठाकुर द्वारा भारत माता के चित्र के समक्ष दीप प्रज्जवलित कर व नारियल तोड़ किया गया। इससे पूर्व हवन का आयोजन भी किया गया।

editor1

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *