स्वयंसेवकों पर बढ़ रहा है देश की जनता का विश्वास : कश्मीरी लाल

हिन्दू-मुस्लिम एकता का संगम बना संघ का पथ संचलन
दो हजार से ज्यादा स्वयंसेवकों ने लिया पथ संचलन में हिस्सा
विसकें, अंबाला। रविवार को अंबाला शहर हिन्दू-मुस्लिम एकता का संगम बना नजर आया। राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के दो हजार से भी ज्यादा स्वयंसेवकों ने कदम से कदम मिलाते हुए नगर में पथ सचलन (मार्च पास्ट) निकाला। हिन्दू समाज के विभिन्न संगठनों के अलावा मुस्लिम समाज के लोगों ने भी पुष्प वर्षा करके पथ संचलन में शामिल स्वयंसेवकों का भव्य स्वागत करते हुए भारतीय एकता का संदेश दिया। बाल स्वयंसेवकों का जत्था सबको आकर्षित कर रहा था। पथ संचलन में चार वर्ष के स्वयंसेवक से लेकर 90 साल के बुजुर्ग स्वयंसेवक तक शामिल हुए। इतना ही नहीं इस पथ संचलन में एक ही परिवार की चार पीढिय़ां स्वयंसेवक के रूप में शामिल रही। पथ संचलन शहर के पुलिस लाइन मैदान से प्रारंभ हुआ और करीब चार किलोमीटर लंबे मार्ग से होकर गुजरा। कार्यक्रम का मुख्य उद्देश्य क्षेत्र के लोगों को संघ के स्वयंसेवकों के अनुशासन, देश भक्ति के जज्बे, संघ समाजहित के कार्यक्रमों व उद्देश्यों के बारे में जानकारी देना था। स्वयंसेवकों के अनुशासन तथा देश भक्ति के जनून को देखकर नगर के गणमान्य व्यक्ति भी कायल हो गए। कार्यक्रम में जिला अंबाला के स्वयंसे

कार्यक्रम में ध्वज प्रणाम करते पदाधिकारी

वकों ने हिस्सा लिया। पुलिस लाइन में परंपरागत तरीके से ध्वज फहराने और प्रार्थना करने के बाद पूर्व निर्धारित कार्यक्रम के अनुसार चार संघ घोष (बैंड) की धुन पर कदम से कदम मिलाते हुए स्वयंसेवकों ने पथ संचलन शुरू किया। संचलन शहर के पुलिस लाइन से प्रारंभ होकर पुराना सेशन कोर्ट, मनाली हाउस, सेक्टर-एक, पुराना दिल्ली मार्ग, प्रेम नगर, विजय नगर, सेक्टर-7 व पुलिस लाइन चौक से होता हुआ वापस पुलिस लाइन ग्राउंड में

आकर संपन्न हुआ। पथ संचलन के सबसे आगे स्वयंसेवक भगवाध्वज हाथों में लिए नेतृत्व कर रहे थे तो सबसे पीछे डॉ. हेडगेवार, गुरुजी एवं भारत माता के चित्रों से सुसज्जित एक वाहन चल रहा था।
कार्यक्रम के मुख्य वक्ता स्वदेशी जागरण मंच के राष्ट्रीय संगठन मंत्री कश्मीरी लाल ने स्वयंसेवकों व उपस्थित नागरिकों को संबोधित करते हुए कहा कि देश का स्वयंसेवकों पर विश्वास बढ़ रहा है जिसे बनाए रखना हम सब की जिम्मेदारी है। व्यक्तिगत चरित्र के साथ-साथ राष्ट्रीय चरित्र का निर्माण करना भी संघ का उद्देश्य है। त्याग, तपस्या और श्रम लगा कर 24 कैरेट के शुद्ध सोने जैसे

शहर में पथ संचलन में भाग लेते स्वयंसेवक

स्वयंसेवकों का निर्माण संघ करता है। यही कारण है कि देश में किसी भी प्रकार की विपत्ति आने पर संघ का स्वयंसेवक सबसे अगली पंक्ति में सेवा करने को हमेशा तैयार मिलता हैं। उन्होंने कहा कि शाखा के माध्यम से स्वयंसेवकों का मानसिक व शारीरिक विकास किया जाता है। संघ द्वारा समय-समय पर आयोजित कार्यक्रमों के माध्यम से देश के महान बलिदानियों की वीर गाथाएं प्रस्तुत की जाती हैं ताकि स्वयंसेवकों में देशभक्ति की भावना पैदा की जा सके। उन्होंने कहा कि आज देश पर चीन निर्मित सामान के प्रयोग से खतरा बढ़ रहा है। यूं तो हम 190 देशों से व्यापार करते हैं लेकिन कुल व्यापार का 60 प्रतिशत चीन से होता है। हमारे देश से चीन प्रतिवर्ष 60 हजार करोड़ का मुनाफा कमाता है और हमारे देश से कमाए गए मुनाफे से ही चीन गोला बारुद बनाकर हमारे खिलाफ ही प्रयोग कर रहा है। इस मौके पर विभाग संघचालक माननीय कर्नल राम स्वरूप कौशल, विभाग सह संघचालक माननीय ईश्वर दत्त, जिला संघचालक माननीय अशोक कुमार, विभाग प्रचारक भूषण कुमार, नगर संघचालक माननीय राधा कृष्ण आदि पदाधिकारी मौजूद रहे। इस जिला स्तरीय एकत्रीकरण कार्यक्रम का समापन चीन निर्मित वस्तुओं के बहिष्कार के आह्वान के साथ हुआ। कार्यक्रम में स्वयंसेवकों को अनुशासन, समर्पण, व्यक्तिगत चरित्र के साथ राष्ट्रीय चरित्र निर्माण का पाठ भी पढ़ाया गया।

 

editor1

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *