सामाजिक समरसता हमारी पहली प्राथमिकता: प्रांत कार्यवाह जी

grgr-1

विश्व संवाद केंद्र, गुरुग्राम -राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ के स्वयंसेवकों ने विजयदशमी पर नए गणवेश में पथ संचलन कर अनुशासन और देश भक्ति का संदेश दिया। एक हजार से अधिक स्वयं सेवकों ने सबसे पहले द्रोणाचार्य कालेज में प्रांत कार्यवाह देव प्रसाद भारद्वाज की अगुवाई और भाग संघचालक वेदजी मंगला, महानगर कार्यवाह विजय कुमार और विभाग प्रचारक शिवकुमार की मौजूदगी में शस्त्र पूजा की तथा गुरू के प्रतिक भगवा ध्वज को प्रणाम किया। इसके बाद जैसे ही स्वयंसेवक कदम ताल करते हुए द्रोणाचार्य कालेज से बाहर निकलकर सडक़ पर पहुंचे, रास्ते में जगह-जगह उनका फूलों से स्वागत हुआ। सदर बाजार में में तो माहौल देखते ही बन रहा था।
कार्यक्रम की शुरूआत सुबह लगभग साढ़े सात बजे शस्त्र पूजा से हुई। भगवान राम के तस्वीर के सामने रखे शस्त्रों को रक्षा का प्रतिक मानकर पूजा गया। कार्यक्रम के मुख्यवक्ता प्रांत कार्यवाह देव प्रसाद भारद्वाज ने अपने संदेश में सामाजिक समरसता, ग्राम विकास और व्यक्ति कल्याण पर जोर देते हुए कहा कि संघ ने सामाजिक समरसता और सामाजिक विकास के लिए जितने काम किए हैं शायद किसी भी संगठन ने उतना किया हो, लेकिन इसके बावजूद भी समाज को बांटने वाली ताकतें हम पर असहषुणता का आरोप लगाती रही है। लेकिन स्वयंसेवक इसकी परवाह किए बिना आगे बढ़ते हुए देश के विकास में लगे रहें हैं और भविष्य में भी उनका लक्ष्य भारत को परम वैभव पर पहुंचाना है। रोहतक के समाजिक समरसता सम्मेलन का उदाहरण देते हुए कहा कि सामाज को एक करने के लिए प्रदेश में इससे बड़ा कोई आयोजन नहीं नहीं। उन्होंने कहा कि जब जब हमें तोडऩे के प्रयास किए जाएंगे, हम पूरी ताकत के साथ एक होकर आगे बढ़ते रहेंगे।
ग्राम विकास की संरचना में उन्होंने देवालय, भोजनालय, जलाश्य और गौशाला को महत्वपूर्ण बताया। प्रांत कार्यवाह ने कहा कि स्वयंसेवकों के बल पर हम इस और तेजी से बढु रहे हैं। धर्मजागरण के लिए भी हमें प्रयास करना होगा। परिवार सुरक्षित रहेगा तो सामाजिक परिवर्तन के लिए ज्यादा ताकत और जिम्मेवारी से काम किया जा सकेगा। उन्होंने कहा कि वर्ष 2025 तक राष्ट्र अपने परम वैभव पर पहुंचेगा, इसके लिए पिछले कई दशकों के स्वयं सेवक लगे हुए हैं।
..और भारत माता की जय के नारों से गूंज  उठा सदर बाजार
पथ संचलन द्रोणाचार्य कालेज से से निकलकर ओल्ड रेलवे रोड से होते हुए आर्यन अस्पताल, न्यू कालोनी, मदनपुरी रोड , जैकबपुरा स्थित शिव मूर्ती, सदर बाजार, डाकखाना चौक, न्यू रेलवे रोड होते हुए फिर से द्रोणाचार्य कालेज में समाप्त हुआ। रास्ते में सदे हुए कदमों से आगे बढ़ते हुए स्वयं सेवकों को देखकर दुकानदारों और बाजार में मौजूद लोगों ने भारत माता की जय के गगनभेदी नारे लगाए। इतना ही नहीं दुकानदारों ने तो पथ संचलन करते हुए स्वयं सेवकों पर फूल बरसाए।

editor1

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *