समाज में संगठन नहीं, हमें समाज का संगठन चाहिए : नरेंद्र सिंह

img-20161105-wa0031img-20161105-wa0027
विश्व संवाद केंद्र ,फरीदाबाद .समाज में संगठन खड़ा करना संघ का उद्देश्य नहीं बल्कि सम्पूर्ण हिन्दू समाज का संगठन करना संघ का उद्देश्य है । सम्पूर्ण हिन्दू समाज अर्थात हिन्दुस्थान की सभी जाति, पंथ एवं समुदायों के जागरण एवं संगठन के माध्यम से ही देश का सर्वांगीण विकास संभव है । उक्त विचार शुक्रवार को अग्रवाल कॉलेज बल्लभगढ़ में आयोजित एक विचार गोष्ठी में राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के उत्तर क्षेत्रीय प्रचार प्रमुख श्री नरेंद्र सिंह ने व्यक्त किये ।
गोष्ठी में पधारे प्रबुद्धजनों को संबोधित करते हुए उन्होंने कहा कि हम सभी को राष्ट्रहित में अपने सभी व्यक्तिगत, जातिगत, दलगत एवं पांथिक मतभेद भुलाकर राष्ट्र की उन्नति के लिए कार्य करना होगा । उन्होंने कहा कि हमारे सभी जलस्रोत, मंदिर एवं शमशान घाट सम्पूर्ण हिन्दू समाज के सांझा होने चाहिए ।  हमारे आपसी मतभेदों के कारण ही भारत के शत्रु भारत देश के अंदर ही ‘भारत की बर्बादी तक जंग रहेगी’ जैसे नारे लगाते है ।
राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के निर्माण, उद्देश्य एवं गतिविधियों की विस्तार से जानकारी देते हुए उन्होंने बताया कि आज देशभर में अनेक विद्यालय, चिकित्सालय, छात्रावास, संस्कार केंद्र व अनेक अन्य प्रकार के सेवा प्रकल्प संघ के स्वयंसेवकों के माध्यम से चल रहे हैं ।
विचार गोष्ठी की अध्यक्षता समाजसेवी एवं योगाचार्य मास्टर प्रेमचंद जी ने की । अध्यक्षीय उद्बोधन में मास्टर प्रेमचंद जी ने कहा कि राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के प्रति लोगों का रुझान अब बहुत तेजी से बढ़ रहा है क्योंकि अच्छे विचार और अच्छे कार्यों की कद्र होती है । योग के महत्व को दर्शाते हुए श्री प्रेमचंद ने कहा कि समर्थ भारत के निर्माण के लिए स्वस्थ भारत होना भी बहुत जरुरी है ।
इस अवसर पर संघ के जिला संघचालक डा चंद्रशेखर, नगर संघचालक श्री राजेंद्र जैन, जिला कार्यवाह अधिवक्ता संतोष वत्स जी, जिला प्रचार प्रचार प्रमुख राजेंद्र गोयल, जिला व्यवस्था प्रमुख चुन्नीलाल गर्ग जी, आदेश सिंघल जी, कृष्ण मुरारी जी, महेश जी, सीताराम जी आदि प्रमुख रूप से उपस्थित थे ।

editor1

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *