समाज को संगठित कर राष्ट्र भक्ति का भाव पैदा करने का काम करता है संघ : डॉ. सुरेंद्रपाल सिंह

राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ का प्रांतीय महाविद्यालयीन विद्यार्थी प्राथमिक प्रशिक्षण वर्ग संपन्न
विसकें, यमुनानगर। राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ का प्रांतीय महाविद्यालयीन विद्यार्थी प्राथमिक प्रशिक्षण वर्ग का शानदार समापन गांव कलावड़ में हुआ। कार्यक्रम में मुख्यातिथि के तौर पर शिवालिक शिक्षण संस्थाओं के अध्यक्ष अरविंद कुमार ने शिरकत की। जबकि कार्यक्रम की अध्यक्षता विज्ञान एवं तकनीकी संस्थान कलावड़ के चेयरमैन रविंद्र सिंह ने की। मुख्य वक्ता के तौर पर उत्तर क्षेत्र शारीरिक शिक्षण प्रमुख डॉ. सुरेंद्र पाल सिंह मौजूद रहे। शिविर के समापन अवसर पर स्वयंसेवकों द्वारा योग, व्यायाम, शारीरिक, गीत सहित अन्य सांस्कृतिक व देशभक्ति कार्यक्रम प्रस्तुत किए गए। कार्यक्रम में प्रांत भर से आए विद्यार्थी स्वयंसेवकों को संबोधित करते हुए डॉ. सुरेंद्र पाल सिंह ने कहा कि समाज के एक-एक व्यक्ति को जोडऩे और उनमें राष्ट्र भक्ति का भाव जगाने का कार्य संघ वर्षों से करता चला आ रहा है। संघ के किसी भी वर्ग या शिविर में सभी स्वयंसेवक एक साथ बैठ कर

शिविर में भाग लेते स्वयंसेवक व अधिकारी।

भोजन करते और वितरित करते हंै। यहां पर स्वयंसेवकों में किसी भी आधार पर भेदभाव का कोई स्थान नहीं है। उन्होंने यह भी बताया कि सात दिनों तक चलने वाले इस प्रांतीय वर्ग में संत शिरोमणी और पूरे विश्व को समानता, भाईचारा और एकता का संदेश देने वाले गुरू रविदास जी महाराज की जंयती भी सभी स्वयंसेवकों ने बड़ी ही श्रद्धा और भक्ति के साथ मनाई। उन्होंने मौके पर उपस्थित सभी नागरिकों से अपील की कि संघ के द्वारा चलाए जा रहे समाज सेवा, राष्ट्र भक्ति और मानवता के कार्यो में वह न केवल सहयोग दें बल्कि घर के सभी सदस्यों को भी संघ कार्यों में बढ़-चढ़कर भाग लेने के

लिए प्रेरित करें। डॉ. सुरेंद्र पाल ने भारतीय इतिहास की चर्चा करते हुए कहा कि अतीत में संगठित न होने के कारण विदेशी आक्रमणकारियों ने हम पर न केवल अत्याचार किया बल्कि हमें पराधीन बनाकर रखा और हमारे सांस्कृतिक मान बिंदुओं को तहस-नहस कर दिया। अब नव जागरण के इस वातावरण में हम अपने को संगठित करें, राष्ट्र भक्ति का भाव लेकर

शिविर में शारीरिक गतिविधियां करते स्वयंसेवक।

समाज निर्माण के कार्यों में जुड़ जाएं यही समय की प्रबल मांग है। इससे पूर्व मुख्यातिथि अरविंद कुमार ने कहा कि राष्ट्रीय स्वयंसेवक संंघ देश निर्माण के हर क्षेत्र में लगा हुआ है। हम सभी नागरिकों का दायित्व है कि हम सब मिलकर संघ का सहयोग करें और राष्ट्र को परम वैभव के स्थान पर आरूढ़ करें। इस प्रांतीय महाविद्यालय विद्यार्थी प्रांतीय शिक्षा वर्ग में कुल 119 शिक्षार्थियों ने संघ व राष्ट्र कार्यों का प्रशिक्षण लिया। 16 शिक्षकों और 26 प्रबंधकों ने वर्ग को सफल बनाने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई। वर्ग में 74 स्थान, 41 खंड, 24 नगर, 80 स्नातक, 12 स्नातकोतर, 10 अध्यापर्को के साथ-साथ 16 दायित्वान और 16 नए शिक्षार्थियों ने भाग लिया। संघ की दृष्टि से प्रांत के 27 जिलों में से 24 जिलों का प्रतिनिधित्व रहा। समापन अवसर पर जिला संघ चालक मानसिंह, जिला प्रचारक नरेश कुमार सहित संघ के विभिन्न विभागोंं के अधिकारी, स्वयंसेवक व गणमान्य नागरिक उपस्थित रहे।

editor1

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *