व्यापार युद्ध में चाइना को धूल चटाने के लिए बहिष्कार के हथियार का करना होगा प्रयोग

विसंके, जींद| चाइनीज सामान का प्रयोग नहीं करने के लिए विद्यार्थियों को जागरूक करने के लिए जींद के स्कूलों में जागरूकता अभियान चलाया गया| इस दौरान शहर के नव दुर्गा सीनियर सेकेंडरी स्कूल के 1400 विद्यार्थियों, विद्या विहार सीनियर सेकेंडरी स्कूल राजपुरा भैण के 1000 तथा एसके सीनियर सेकेंडरी स्कूल गुलकनी के 750 विद्यार्थियों को  जागरूक कर स्वदेशी के प्रयोग का संकल्प करवाया गया|

स्वदेशी जागरूकता अभियान के ज़िला संयोजक जितेंद्र और स्कूल संचालक दिलशेर ने विद्यार्थियों को सम्बोधित करते हुए कहा कि चाइना भारत का सबसे बड़ा दुश्मन है और आए दिन भारत विरोधी गतिविधियों को बढ़ावा दे रहा है| उन्होंने बताया कि चाइना की अर्थ व्यवस्था भारत के बाजार पर आधारित है| इसलिए हमें अपने दुश्मन को सबक सिखाने के लिए एकजुट होना होगा| आज चाइना भारत के साथ सीधे तौर पर युद्ध करने की बजाये व्यापार युद्ध पर जोर दे रहा है और इस युद्ध में चाइना को मात देने के लिए हमें चाइना की वस्तुओं का बहिष्कार करना होगा| चाइना की वस्तुएं घटिया गुणवत्ता के साथ-साथ पर्यावरण को नुकसान भी पहुंचात हैं|  इस अवसर पर सभी विद्यार्थियों को चाइना वस्तुओं का बहिष्कार करने तथा स्वदेशी का प्रयोग करने का संकल्प करवाया गया| इस अवसर पर उनके साथ दुर्गा सीनियर सेकेंडरी के संचालक शिव नारायण शर्मा, विधा विहार सीनियर सेकेंडरी स्कूल के संचालक  दलशेर, एसके सीनियर सेकेंडरी स्कूल के संचालक हरिराम  ने बच्चों की जागरुकता रेली निकालने का निर्णय लिया और “चीन की चुनौती और हमारा कर्तव्य” पुस्तक के लिए भी निवेदन किया|

विद्यार्थियों को चाइना वस्तुओं के बहिष्कार के लिए जागरूक करते कार्यकर्ता|

कार्यक्रम में मौजूद विद्यार्थी

editor1

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *