लव जेहाद के खिलाफ निकाला जुलूस

सोहना, (विसंके)।  सोहना में बुधवार को धर्म रक्षा मंच हरियाणा के तत्वाधान में विश्व हिंदू परिषद, श्री सनातन धर्म सभा, आर्य समाज, श्री सैनी सभा, श्री जांगिड़ सभा, भारत विकास परिषद, सेवा भारती, श्री रविदास मंदिर सभा, श्री गुरूद्वारा प्रबंधन कमेटी, श्री वाल्मीकि मंदिर सभा, भगवान परशुराम सेवा समिति, श्री बंजारा सभा, श्री कचेरा राजपूत सभा, श्री अग्रवाल सभा, यादव युवा सभा, युवा गुर्जर उत्थान समिति, देशभक्त युवा क्लब, सोहना जागृति मंच, सोहना गौरक्षा दल, टैंट शामियाना व्यापारी एसोसिएशन, मानव संसाधन युवा विकास संगठन, श्री गोवर्धन गौशाला, किरयाणा व्यापारी संघ, श्री महंत हनुमान मंदिर, श्री सत्य सनातन गौशाला, श्री रामकृष्ण कामधेनू गौशाला सिलानी आदि समेत विभिन्न संस्थाओं से जुड़े कार्यकर्ताओं ने लव जेहाद के खिलाफ और गौ माता, वंदे मातरम व भारत माता की जय के गगनभेदी उदघोष करते हुए बाजार में जुलूस
निकाला और तहसीलदार के माध्यम से प्रदेश के मुख्यमंत्री मनोहर लाल के नाम ज्ञापन देते हुए मेवात क्षेत्र में बढ़ रही गौकशी, गौ तस्करी व लव जेहाद पर कड़ाईपूर्वक रोक लगाए जाने की मांग की है। इस मौके पर अनाज मंडी में उपस्थितों को संबोधित करते हुए विश्व हिंदू परिषद के क्षेत्रीय अध्यक्ष राजकुमार सिंगला, सनातन धर्म सभा के प्रधान प्रवीण पाहूजा, विद्वान ओमदेव
शास्त्री, महामंडलेश्वर मनोहर दास शास्त्री, देवदत्त एडवोकेट, नंबरदार रामचन्द्र सैनी, धर्मचंद एडवोकेट, अमृत सिंह बागड़ी, पूर्व पार्षद हुकम चंद सिंगला, अशोक बंसल, ओमप्रकाश बंजारा, लोकेश राघव, योगेश तोमर, संजय आर्य, सुदर्शन आर्य, सतीश खटाना एडवोकेट, ओमप्रकाश जांगड़ा, भीम सिंह भाटी, हिंदू जागरण मंच के विभाग प्रमुख रविन्द्र कुमार, रामबाबू गुप्ता,
ओमप्रकाश दिलेर, रमेश शास्त्री, राजीव शर्मा, बलबीर गब्दा, कर्मपाल बोकन, मुकेश शर्मा, मनोज अवाना, चौधरी चरत सिंह रिठौजिया आदि समेत विभिन्न वक्ताओं ने अपने संबोधन में कहा कि मेवात में अल्पसंख्यक हिंदू समाज के स्वाभिमान व अस्तित्व के साथ खिलवाड़ हो रहा है। जिससे मेवात में रह रहे अल्पसंख्यक समाज में असुरक्षा का माहौल है। बहन, बेटियों की इज्जत खतरे में है। एक विशेष समुदाय के लोग लव जेहाद की डगर पर चलते हुए मेवात में अल्पसंख्यक परिवारों की बहन,
बेटियों की अस्मत से खेलने का प्रयास कर रहे है। वक्ताओं ने पालड़ा, ढाढोली, लनवनगढ़, बिछोर आदि घटनाओं का उल्लेख करते हुए कहा कि लव जेहाद के नाम पर अल्पसंख्यक परिवार की बहन, बेटियों को बहला-फुसलाकर उनका शारीरिक,  मानसिक शोषण हो रहा है। विशेष समुदाय के चंद लोग शमशान भूमि, मंदिर, चौपाल, सार्वजनिक व व्यक्तिगत जमीनों पर
कब्जे करने से बाज नही आ रहे है। मेवात माडल स्कूल में कार्यरत सरफराज अहमद नामक शिक्षक के बच्चियों के साथ अश्लील हरकते और छेड़छाड़ करने के मामले में अभियोग पंजीकृत होने के बावजूद दबाव के चलते उसे अभी तक नही पकड़ा गया है। पुलिस उस पर हाथ डालने से बच रही है। यहां तक कि लोकतंत्र के मंदिर में अहम भूमिका निभाने वाले बार एसोसिएशन का भी इस्लामीकरण करने का प्रयास हो रहा है और एसोसिएशन के जरिए शासन-प्रशासन पर अनावश्यक
दबाव बनाने का घिनौना खेल खेला जा रहा है। मेवात को कश्मीर बनने से रोकने के लिए जरूरी है कि यहां पर सीआरपीएफ कैंप बनाया जाए। स्पेशल टास्क फोर्स प्रत्येक थाने में उपलब्ध कराई जाए। अल्पसंख्यक परिवारों का पलायन रोकने के लिए  उचित प्रभावी कदम उठाए जाए। वक्ताओं ने अपने संबोधन में कहा कि मुख्यमंत्री मनोहर लाल सरकार ने गौ संरक्षण एवं गौ संवर्धन कानून बनाकर एक अच्छी पहल की है लेकिन इस कानून को प्रभावी तरीके से लागू किए जाने की जरूरत है। सोहना मेवात का प्रवेश द्वार है। बावजूद इसके पुलिस के पास संसाधनों और वाहनों का अभाव है।

editor1

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *