राष्ट्र की तेजस्विता एवं पुनर्निर्माण में देश की महिलाओं का अहम योगदान

रेवाडी के मॉडल टाउन स्थित हिंदू वरिष्ठ माध्यमिक विद्यालय में जिस भव्य अंदाज में राष्ट्र सेविका समिति द्वारा प्रांत वर्ग का शुभारंभ किया गया था, उसी अंदाज में समापन भी हुआ। दंड चलाकर छात्रओं ने जहां नारी के शत्तिफ़ रूप को सामने रहा, वहीं योग व सांस्कृतिक कार्यक्रमों की प्रस्तुति से सभी को मन मोह लिया। समिति की अिऽल भारतीय बौद्धिक प्रमुख डॉ. शरद रेणु व सर्वाधिकारी राधा की उपस्थिति में दीक्षांत समारोह हुआ। इस अवसर पर छात्रओं को तिलक लगाकर राष्ट्रहित कार्य करने के लिए प्रेरित किया गया। इसके पश्चात शाम 6 बजे समापन समारोह का आयोजन किया गया। कार्यक्रम की मुख्य वक्ता डॉ. शरद रेणु रही तथा अध्यक्षता वरिष्ठ चिकित्सक डॉ. ऊषा सचदेवा ने की। फुटबाल कोच सोनिका विजारनिया भी विशेष तौर पर मौजूद रही। विधायक रणधीर सिंह कापड़ीवास ने भी कार्यक्रम में शिरकत की। डॉ. शरद रेणु ने कहा कि राष्ट्र की तेजस्विता एवं पुर्ननिर्माण में नारी की क्या भूमिका है, उसका परिचय राष्ट्र सेविका समिति अपने कार्यक्रमों के माध्यम से करती रहती है। उन्होंने कहा कि महिला परिवार का केंद्र बिंदु है इसलिए श्रेष्ठ पीढ़ी के निर्माण का दायित्व उसे निभाना है। मुख्य वक्ता डॉ. रेणु ने कहा कि भारत राष्ट्र की तेजस्विता एवं पुनर्निर्माण में देश की महिलाओं ने अहम योगदान दिया है। इसलिए नई पीढि़यों को सशक्त करने, नई दिशा देने, श्रेष्ठ बनाने में महिलाएं अपने दायित्वों को बखुबी निभा सकती हैं। डॉ. ऊषा सचदेवा ने कहा कि छात्राओं ने अपने शारीरिक व बौद्धिक क्षमताओं का जो प्रदर्शन किया है, वह हैरान करने वाला है और समाज को भी बताता है कि नारी किसी से कम नहीं। सेविकाओं ने घोष वादन के साथ ध्वज की मान वंदना की, डंबल, दंड योग, व्यायाम योग का प्रदर्शन किया। डॉ. पूनम वधवा ने मंच संचालन किया। मुख्य शिक्षिका का दायित्व गीता कौशिक ने निभाया। प्रांत प्रचारिका डॉ. ममता, प्रतिमा स्वराज, सुनीता गुप्ता, अंशु यादव, कुसुमलता, अंगूरी देवी, सुनीता यादव, ललिता मित्तल, शकुंतला आदि विशेष तौर पर मौजूद रहे।

कार्यक्रम में भाग लेती छात्राएं

प्रदर्शन में भाग लेती छात्राएं

editor1

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *