महापुरुषों के जीवन से लेनी चाहिए प्रेरणा

हर्षोल्लास के साथ मनाई सविधान निर्माता की जयंती 

(विसंके)| प्रदेशभर में संविधान निर्माता डॉ. भीमराव अम्बेडकर की जयंती धूमधाम से मनाई गई। राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ द्वारा खंड व जिला स्तर पर कार्यक्रमों का आयोजन किया गया। स्वयंसेवकों द्वारा कार्यक्रमों के माध्यम से लोगों को डॉ. अम्बेडकर के दिखाए गए मार्ग पर चलने का संकल्प भी करवाया गया। अम्बेडकर जयंती के अवसर पर आरोग्य भारती द्वारा इंद्री कस्बे में रक्तदान शिविर लगाया गया। शिविर में स्वयंसेवकों व अन्य लोगों ने बढ़-चढ़कर रक्तदान किया। शिविर के संयोजक डॉ. श्यामलाल ने कहा कि हमें अपने महापुरुषों के दिखाए गए मार्ग पर चलना चाहिए। डॉ. अम्बेडकर ने छुआ-छूत, जाति-पाति को खत्म करने के लिए कड़ा संघर्ष किया है। संविधान के निर्माण में उनका अहम योगदान रहा है। इस तरह के आयोजनों पर हमें समाजहित के कार्यों को आगे बढ़ाना चाहिए। ताकि हमारी आने वाली पीढिय़ां अपने महापुरुषों के जीवन से प्रेरणा लेकर देश को आगे बढ़ाने में अपना सहयोग कर सकें।

-अम्बेडकर सेवा समिति ने हरचन्दपुर में मनाई अम्बेडक़र जयंती
डा. अम्बेडक़र सेवा समिति गांव हरचंदपुर में भारत रत्न डा. भीम राव अम्बेडक़र की 126वीं जयंती समिति के प्रधान राजनारायण जाटव की अध्यक्षता में धूमधाम से मनाई गई। कार्यक्रम में मुख्यातिथि भारतीय जनता पार्टी हरियाणा के वरिष्ठ नेता एवं हरियाणा अम्बेडक़र संघर्ष समिति के प्रदेशाध्यक्ष मनजीत सिंह दहिया तथा समिति महिला प्रकोष्ठ की प्रदेश चेयरपर्सन सरोजनी चौधरी पहुंची। समिति के प्रदेशाध्यक्ष मनजीत दहिया ने कहा कि डा. अम्बेडक़र ने भारत के संविधान की रचना में अभूतपूर्व योगदान दिया जेा इतिहास के पन्नों पर सदैव सुनहरे अक्षरों में जगमगाता रहेगा। समिति महिला प्रकोष्ठ हरियाणा की प्रदेश चेयरपर्सन सरोजनी चौधरी ने कहा कि डा. अम्बेडक़र जी का सामाजिक दर्शन हमें आगे बढऩे की प्रेरणा और शक्ति देता है। डा. अम्बेडक़र सेवा समिति हरचंदपुर के प्रधान राजनारायण जाटव ने कहा कि बहुप्रतिभा के धनी डा. अम्बेडक़र जी दलितों, किसानों, मजदूरों के सच्चे मसीहा थे वहीं सामाजिक क्रांति के पुरोधा, मानवतावादी राष्ट्र नायक थे।

शिविर में रक्तदान करते स्वयंसेवक

 

editor1

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *