भारत रूपी अयोध्या के लिए सबसे बड़ा रावण है चीन

विसंके, पानीपत।  विजयदशमी के अवसर पर प्रताप नगर, पानीपत में राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के स्वयंसेवकों ने पथ संचलन कर समाज को एकता का संदेश दिया। पथ संचलन से पूर्व संजय पार्क में शस्त्र पूजन कार्यक्रम भी हुआ। कुरुक्षेत्र विभाग प्रचारक नरेंद्र कुमार कार्यक्रम में मुख्य रूप से शामिल हुए।

विभाग प्रचारक नरेंद्र कुमार ने कहा कि आज भारत रूपी अयोध्या के लिए सबसे बड़ा रावण चीन है।

पथ संचलन में भाग लेते स्वयंसेवक

यदि अपने सैनिकों का रक्षण करना है तो चीनी समान का बहिष्कार ही एक मात्र उपाय है। चीन, भारत से करोड़ो रूपये का कारोबार कर पाकिस्तान का संरक्षण करने का कार्य कर रहा है। राष्ट्रीयता की भावना के विकास के लिए अपने हितों का त्याग कर राष्ट्र के हित को सर्वोपरि रखने की बात भी कही। विजयदशमी के दिन 1925 में डॉ. हेडगेवार जी ने राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ की स्थापना नागपुर में की थी। इन 92 वर्षों में संघ कार्य का विस्तार हो समाज के अनेक क्षेत्रों व विदेशों में चल रहा है। घोष की संगीतमय धुनों पर पर स्वयंसेवक कृष्णपुरा, शिव नगर, जीटी रोड, गोहाना रोड पर पथ संचलन करते हुए वापिस संजय पार्क पहुंचे ।

रास्ते में समाज ने पुष्प वर्षा कर हर्ष से उनका जगह-जगह पर स्वागत किया। सह विभाग संघचालक रमेश नांगरु व  सह जिला संघचालक अनूप, जिला कार्यवाह संजीव के सबल नेतृत्व में कार्यक्रम सकुशल सम्पन्न हुआ।

editor1

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *