भारत आस्थाओं का देश : स्वामी ज्ञानानंद

एक शब्द को तीन बार बोलने से नहीं खत्म होते सच्चे सम्बंध

भारत भक्ति ट्रस्ट, हांसी द्वारा निर्मित भारत माता मंदिर एवं हेडगेवार भवन का लोकार्पण गीता मनीषी स्वामी ज्ञानानंद जी महाराज द्वारा किया गया। इसके उपरांत नौहरा चौधरी श्रीपाल जैन में एक भव्य समारोह का आयोजन किया गया। कार्यक्रम में मुख्य वक्ता के तौरपर आर.एस.एस. के उत्तर क्षेत्रीय संघचालक डॉ. बजरंग लाल गुप्त मौजूद रहे। कार्यक्रम की अध्यक्षता संघ के प्रांत संघचालक मेजर करतार सिंह ने की। समारोह में लोगों को संबोधित करते हुए स्वामी ज्ञानानंद जी महाराज ने कहा कि भारत आस्थाओं का देश है, राष्ट्र के साथ अपनापन महसूस होता है। उन्होंने कहा कि भारत युद्ध नहीं चाहता, लेकिन कोई युद्ध की नीयत से हमे हानि पहुंचाता है तो हमें सहन करना नहीं आता। जिस प्रकार पड़ोसी देश सीमा की रक्षा कर रहे हमारे जवानों पर गोलियां चलाते हैं, उसको देखकर सर्जिकल स्ट्राइक करना जरूरी था। उन्होंने कहा कि जिस प्रकार पांडव युद्ध करना नहीं चाहते थे, लेकिन कौरवों द्वारा मजबूर करने पर उन्हें युद्ध करना पड़ा। स्वामी जी ने कहा कि एक शब्द को तीन बार बोल कर सम्बंध खत्म नहीं किया जा सकता। सच्चे सम्बंध आत्मा से होते है। उन्होंने कहा हमारे जीवन मे कार्तिक मास का बड़ा महत्व है और एक वर्ष में 18 दिन कन्याओं के लिए विशेष पूजा होती है। आज मनुष्य ने विज्ञान में तो कामयाबी हासिल कर ली है, लेकिन मानवता सिकुड़ती जा रही है। आर.एस.एस. के उत्तर क्षेत्रीय संघचालक डॉ. बजरंग लाल गुप्त ने कहा कि भारत केवल एक जमीन का टुकड़ा नहीं है, भारत एक तत्व व विचार है। इसके लिए भारत माता की जय की आवश्यकता है।  कार्यक्रम में आए हुए सभी अतिथियों का स्वागत करते हुए ट्रस्ट के अध्यक्ष सुरेन्द्र जैन एडवोकेट ने कहा कि हमारे लिए बड़े गर्व की बात है कि हांसी में भारत भक्ति ट्रस्ट द्वारा क्षेत्र में प्रथम भारत माता का मंदिर व डॉ. हेडगेवार भवन का निर्माण किया गया है, जिसका लोकार्पण महान विभूतियों द्वारा किया गया है। यह भवन राष्ट्रवादी गतिविधियों के केन्द्र के रूप में स्थापित होगा। ट्रस्ट के सचिव कमलेश गर्ग ने कहा कि आज सभी लोगों के प्रयासों से ही यह संभव हो पाया है। इस कार्य में पिछले 30 वर्षों में अनेक महानुभावों का प्रत्यक्ष व अप्रत्यक्ष सहयोग मिला है। कार्यक्रम में पंडित दीनचंद शर्मा एडवोकेट, कुलभूषण जैन एडवोकेट, डॉ. प्रवीण हंस एडवोकेट हाईकोर्ट चंडीगढ़, गुलशन सुखीजा, देसराज खरैतीलाल, सुभाष अरोड़ा, बलवान सिंह मिस्त्री, नेकराम शर्मा, विजयपाल आर्य, नवीन शर्मा एडवोकेट, नरेन्द्र गुप्ता, डॉ. रणजीत सिंह सैनी, प्रविन्द लोहान, शिव शंकर व राजकुमार मनचंदा को उनके योगदान के लिए सम्मानित किया गया।

भारत माता मंदिर एवं हेडगेवार भवन का लोकार्पण करते स्वामी ज्ञानानंद जी महाराज

editor1

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *