बजंरगदल के कार्यकर्ता की गिरफ्तारी को लेकर धार्मिक व सामाजिक संगठनों ने किया रोष प्रदर्शन

हिसार में अग्रसैन चौक पर दिया धरना
हिसार पुलिस अधिक्षक पर लगाया पक्षपात का आरोप
 एफआईआर पर  जांच की उठाई मांग
हिसार, विसंके। कश्मीर में अमरनाथ यात्रियों की  निर्मम हत्या के विरोध में निकाले गए रोष प्रदर्शन में मस्जिद के सामने एक आम के व्यपारी के साथ हुए विवाद में बजरगदल के विभाग संयोजक की गिरफ्तारी के विरोध में विश्व हिन्दू परिषद, बजरंग दल व हिन्दू संघर्ष समिति के तत्वाधान में शहर में जोरदार प्रदर्शन किया गया। इस अवसर पर सामाजिक व धार्मिक संगठनों द्वारा धरना भी दिया गया। प्रदर्शनकारियों ने हिसार की जिला पुलिस अधिक्षक पर पक्षपात करने का आरोप लगाया और एफआईआर पर पुर्न जांच करवाने की मांग की।
विहिप के प्रांतीय प्रवक्ता विजय शर्मा ने आरोप लगाते हुए कहा कि प्रशासन ने एक षडयन्त्र के तहत  मस्जिद से जुड़े लोगों के राजनैतिक प्रभाव में न केवल विभाग संयोजक को एक आतंकवादी की तरह गिरफ्तार किया बल्कि उन पर संगीन धाराएं भी लगा दी गई। उन्होने बताया कि एफआईआर न. 661 दिनांक 11 जुलाई मे लिखा गया कि प्रदर्शन करने वाले लोग 100 से 125 की संख्या में थे जबकि वास्तव में वहां मीडिय़ा कर्मियों सहित 20 से 25 लोग थे जो विडियो/छाया चित्र आदि में स्पष्ट दिखाई दे रहे हैं। शर्मा ने कहा कि एफआईआर में बताया गया कि प्रदर्शनकारियों ने पत्थरबाजी की जबकि किसी भी प्रर्शनकारी के हाथ में न तो काई पत्थर था और ना ही अन्य कोई हथियार। शर्मा ने आरोप लगाया कि एफआईआर में लिखवाया गया कि प्रदर्शनकारियों ने मस्जिद के दरवाजे को ठोकरमारी अन्दर घुसे व मारपीट की जो की सरासर गलत है। कोई भी प्रदर्शनकारी न तो अन्दर घूसा और नही किसी ने दरवाजे को ठोकर मारी वीडियो व छाया चित्र इसके प्रमाण हैं। शर्मा ने कहा कि एफआईआर  में आरोप लगाया कि प्रदर्शनकारियों ने मुस्लिम समाज के विरोध में नारे लगाए यह सरासर गलत व मनघडंत षडयंन्त्र व राष्ट्रहित में कार्य करने वाले बजरंग दल की छवि को धूमिल करने व उसे बदनाम करने की गहरी साजिश है। शर्मा ने कहा कि एफआईआर में जो भी आरोप लगाए गए वह आधारहीन,गुमराह करने वाले और झूठे हैं। उन्होने मांग की कि किसी अन्य अधिकारी से इसकी पून: जांच की जाए जाकि सही न्याय मिल सके।
भाजपा के पूर्व जिला अध्यक्ष प्रो. कृष्ण लाल रिणवा ने कहा कि आपसी कहासुनी और झगड़े के मामले को सनसनी खेज बनना और बिना किसी जांच के प्रभाव में आकर बजरंग दल के लोगों को संगीन धाीरओं में गिरफ्तार करना दुर्भाग्यपूर्ण है। जिलामंत्री रविन्द्र गोयल ने आरोप लगाया कि स्थानीय पुलिस अधीक्षक ने इसलिए कार्यकर्ताओं पर मामले दर्ज किए कि उन्होंने लव जेहाद के मामले को लेकर उनका विरोध किया था। शमशेर आर्य ने कहा कि हिन्दू संगठनों पर मामला दर्ज करना दुर्भाग्यपूर्ण है। विहिप के प्रांतीय सहमंत्री दवेन्द्र शर्मा ने कहा कि यदि शीघ्र ही एफआईआर में लगी धाराओं को निरस्त नहीं किया गया तो पूरे प्रांत में इसकी प्रतिक्रिया होगी। इस अवसर पर विभिन्न संगठनों के प्रतिनिधियों ने मंच से रोष प्रकट किया और  उपअधीक्षक को ज्ञापन सौपा। धरने पर गौर हरिसंकीर्तन मंडल, भारत माता मंदिर, श्री हनुमान मंदिर बुधला संत हिसार, कृष्ण कृपा संकीर्तन मंडल, रधुनाला मंदिर,आर्य समाज मंदिर, हरियाणा कुरूक्षेत्र हनुमान मंदिर, गौसेवा सदन हिसार, काली माता मंदिर समिति, सनातन धर्म मंदिर माडल टाऊन, बांके बिहारी सेवा समिति, ब्राह्मण सभा हिसार, हरियाणा राज्य गौशाला संघ, स्वदेशी जागरण मंच, भारत विकास परिषद वीर शाखा, श्री हिरबोल मित्र मंडल, बाबा महावतार सेवा ट्रस्ट, हिसार, वनवासी कल्याण आश्रम हिसार, प्रो. कृष्ण लाल रिण्वा, रमेश वत्स, विजेन्द्र वत्स, मोहन लाल लाहौरिया, कमल सराफ, जगदीश तोशामियां, सुभाष जैन एडवोकेट, गगन शर्मा, जितेन्द्र सोनी, सतपाल मधु, अनिल गोयल, विजय नागपाल, राममेहर फौजी, भगवान परशुराम जनसेवा समिति, प्रभुीक्त संकीर्तन मंडल, पृथ्वी सिंह घरिया, संजीव चौहान सहित विभिन्न संगठनों के कार्यकर्ता मौजूद रहे।

editor1

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *