नारद जी ने सदैव धर्मस्थापना के लिए कार्य किया

नरद जयंती पर हुआ पत्रकार सम्मान समारोह का आयोजन 

चरखी दादरी, विसंके।  विश्व संवाद केंद्र चरखी दादरी द्वारा श्रीमानस गीता ज्ञान मंदिर के  प्रांगण में ब्रह्मांड के आदि पत्रकार देव ऋषि नारद की जयंती की उपलक्ष्य में ‘पत्रकारिता एक चुनौती-दिशा व दशा विषय पर संगोष्ठी व पत्रकार सम्मान समारोह का आयोजन किया गया। संगोष्ठी में चरखी दादरी जिले के पहले उपायुक्त विजय कुमार सिद्दप्पा ने मुख्याथिति शिरकत की।  वरिष्ठ पत्रकार व स्तंभकार विवेक सिन्हा ने मुख्यावक्ता तथा राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के प्रांत प्रचारक विजय कुमार ने विशेष अतिथि के तौर पर शिरकत की।

विवेक सिन्हा ने कहा कि स्वतंत्रता संग्राम में पत्रकारों की भूमिका अविस्मरणीय रही है। उन्होंने देश की आजादी के लिए आम जनमानस को जागरूक करने में अहम भूमिका निभाई। अंग्रेजों ने पाश्चात्य संस्कृति की आबो-हवा में हमारे संस्कार चिन्ह गौरवशाली प्रतीकों को मिटाने का काम किया था। आज के संदर्भ में पत्रकारिता को चुनौतीपूर्ण बताते हुए सिन्हा ने समय की पीड़ा को सधे-हुए शब्दों में व्यक्त किया। उन्होंने पत्रकारिता के गिरते स्तर को निराशाजनक व दिशाहीन बताया तथा कहा कि आशा का सूर्य सकारात्मक पत्रकारिता के रूप में उदय हो रहा है। उन्होंने उपस्थित जनसमूह व पत्रकारों से सत्य का साथ देने की अपील की क्योंकि सत्य में शिव का वास है वस्तुत: वही सुंदर भी है। राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के प्रांत प्रचारक विजय कुमार ने कहा कि नारद जी ने सदैव धर्मस्थापना के लिए कार्य किया। अपनी भारतीय संस्कृति, धर्म की सनातन परंपरा के पालन के लिए उन्होंने उपस्थित जनमानस से देवर्षि नारद की भांति पत्रकारिता धर्म का पालन करने की अपील की। विजय ने बताया कि आज के स्मार्ट फोन युग में सोशल मीडिया पत्रकारिता के चैनल के रूप में काम कर रहा है। अत उसमें संदेश, फोटो देख-परख के पोस्ट की जाए।
उपायुक्त विजय कुमार सिद्दप्पा ने कार्यक्रम की भूरि-भूरि प्रशंसा की। उन्होंने सीखना-बिगडऩा, जोडऩा-तोडऩा पत्रकारिता एवं सनसनी छह शब्दों में नारद जयंती का सारांश प्रस्तुत किया। उन्होंने ऐसे कार्यक्रमों को समाज सुधार, जन-कल्याण के लिए महत्वपूर्ण बताया। उन्होंने पत्रकारिता को जनमत जाग्रत करने की दिशा में अहम बताया।
संगोष्ठी के अध्यक्षीय भाषण में डॉ. (मेजर) योगेन्द्र देशवाल ने वक्ताओं व संगठन का आभार व्यक्त किया। उन्होंने बताया कि समाज परिवर्तन में पत्रकार की भूमिका अत्यंत जिम्मेवार है। ऐसे भीषण दौर में पत्रकारिता चुनौतीपूर्ण है।
अंत में विश्व संवाद केंद्र की दादरी शाखा ने जिले के सभी पत्रकारों को स्मृति चिह्न देकर सम्मानित किया। मंचासीन वक्ताओं ने समाज सुधार व सकारात्मक योगदान के लिए पत्रकारों द्वारा किए गए प्रयासों की सराहना की।
कार्यक्रम की शुरुआत भारतमाता व देवर्षि नारद के चित्र पर दीप प्रज्ज्वलन से हुई। छोटे-छोटे विद्यार्थियों ने आरंभ में राष्ट्रगीत व अंत में राष्ट्रगान प्रस्तुत किया। नौवीं के छात्र गौरव ने ”तिरंगा” विषय पर आकर्षक गीत सुनाकर मंत्रमुग्ध कर दिया। अंत में ”योगा”  विषय पर संगीतमय नाटिका की सभी ने खूब प्रशंसा की।
इस अवसर पर जीतराम गुप्ता, अरविंद मित्तल, राजेन्द्र शर्मा, नरेश मंदौला, वरुण मित्तल, डॉ. संदीप सांगवान, सारंग कौशिक, पार्षद रविन्द्र गुप्ता, पूर्व पार्षद गंगाराम, एडवोकेट ईश्वर चन्द्र, कुलदीप जोशी, हरिराम खुडानिया, शिवकुमार चिमनी वाला, प्रदीप चिडिय़ा वाला, प्रदीप फौगाट, हितेश सैनी, भूपेन्द्र कौशिक, विकास शर्मा, नरेश गर्ग, विरेन्द्र गुप्ता, जयभगवान बंसल, सुमित डालमिया, देवकीनंदन, डॉ. एम.के. जैन, बलराम गुप्ता, विनय अग्रवाल, राजकुमार कौशल, पूर्व बीईओ रोशनी शर्मा, मंजू मोरवाल, सुमन लता जांगड़ा, कला गुप्ता आदि के साथ-साथ विशंभर गोयल, श्यामसुंदर गुप्ता, विनोद गर्ग, सुरेश मोरवाल, विजय बसई वाले, विजेन्द्र, रामनिवास हड़ौदिया, प्रमोद बंसल, पंकज शर्मा, संदीप छपारिया, अशोक मिश्रा आदि अनेक गणमान्य व्यक्ति उपस्थित थे। कार्यक्रम में मंच संचालन सरिता डालमिया व राजीव अरोड़ा ने किया।

कार्यक्रम के दौरान पत्रकारों को सम्बोधित करते वक्ता

कार्यक्रम में मौजूद पत्रकार व अन्य श्रोता

editor1

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *