धर्म की रक्षा के लिए शस्त्र जरूरी

विसंके, फरीदाबाद पूर्वी| दयानन्द नगर द्वारा शहर के सेक्टर-7, ए ब्लॉक के पार्क में संघ का स्थापना दिवस मनाया गया| कार्यक्रम की शुरुआत शस्त्र पूजन से हुई| इसमें मुख्य वक्ता  के रूप में जमुना प्रसाद रहे|
ने अपने उद्बोधन में कहा कि आज का दिन धर्म की अधर्म पर जीत के रूप  में मनाया जाता हे यह शस्त्र पूजन पहले से ही चल जमुना प्रसाद ने अपने सम्बोधन में बताया कि हमारे ऋषियों जे अनुसार धर्म की रक्षा के लिए शस्त्र जरूरी है| उन्होंने कहा कि संघ के छह उत्सवों में यह उत्सव बड़ा महत्व का हे| युग-युग में देव दानव दोनों पृथ्वी पर आते हैं| दानव देश का विनाश करते हैं| देव शक्ति उसे बचाती है| इस देश के दो दानव 1947 में पाकिस्तान व 1949  में चीन पैदा हुए| हमें दोनों से लड़ना है और जनता के सहयोग से पूरे जोर से उनका  मुकाबला  करना है चीन हमारे बाजार को बर्बाद कर रह है| हमें उससे कड़ा मुकाबला करना है| पथ संचलन के दौरान लोगों ने फूलो से वर्षा कर स्वयंसेवकों का स्वागत किया| इस संचलन में सभी वर्ग के लोग शामिल रहे| कार्यक्रम में  जयकृष्ण, इंदुशेखर शास्त्री व अन्य वरिष्ठ व्यक्ति मुख्य तोर पर उपस्थित रहे|

editor1

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *