दैनिक जीवन में अन्य कार्यों के साथ कला भी बहुत आवश्यक है

गुरूग्राम, विसंके।  हरियाणा कला परिषद चण्डीगढ़ द्वारा गुरूग्राम के सी.सी.ए. स्कूल चल रही सृजनात्मक बहुकला कार्यशाला के समापन अवसर पर मुख्यातिथि के रूप में बोलते हुए निगम कमीश्नर वी. उमाशंकर ने कहा कि हरियाणा कला परिषद कला के क्षेत्र में विशेष कार्य कर रही है। जैसे दैनिक जीवन में अन्य कार्य आवश्यक हैं, वैसे ही कला भी बहुत आवश्यक है। इस कार्यशाला के माध्यम से विभिन्न विद्यालयों के शिक्षक व शिक्षिकाओं ने बहुत आयाम सीखे हैं। हरियाणा कला परिषद के अतिरिक्त मुख्य सलाहकार संजय भसीन ने अतिथियों को स्मृति चिन्ह् देकर सम्मानित किया। मंच का संचालन राजू शर्मा ने किया ।

हरियाणा कला परिषद के निदेशक अजय सिंहल ने कहा कि कला परिषद के माध्यम से हम कलाकार को रोजगार देने का भरपूर प्रयास कर रहे हैं । कला की विभिन्न विधा रोजगार परक कैसे बने इसके लिए चिंतन बैठकों व कार्यशालाओं का आयोजन किया जा रहा है। प्रदेश के कलाकारों के लिए हम उनके दुख-सुख के साथी बनकर तैयार खड़े हैं। कार्यशाला की अध्यक्षता कर रहे भारतीय जनता पार्टी के प्रशिक्षण प्रमुख शैलेन्द्र पाण्डेय ने कहा कि कला साधना है। 2000 वर्षों की गुलामी झेलने के बाद भी हमारी कलाएं सुरक्षित रहीं ये हमारे लिए गौरव की बात है। इन कलाओं को सवंर्धित करने का काम हरियाणा कला परिषद बहुत ही अच्छे तरीके से कार्य कर रही है। इस अवसर पर 15 दिनों में शिक्षार्थियों ने जो जो सीखा उसके स्टाॅल लगाए गये थे व उन्हीं के द्वारा मंच पर प्रस्तुतिकरण भी किया गया। जहाँ व्यक्तित्व विकास प्रशिक्षण का नमूना मंच पर प्रस्तुत किया गया वहीं माईम के माध्यम से आधुनिक सुविधाओं पर अधिक निर्भरता की हानियों को बड़े अच्छे ढंग से प्रस्तुत किया गया । उड़ान नृत्य-नाटिका के माध्यम से नारी सशक्तिकरण पर मन मोहक प्रस्तुति दी गई । शिक्षार्थियों ने कहा कि इस प्रकार की कार्यशाला गुरूग्राम में पहली बार लगाई गई है जो कि बेहद सफल रही । समापन अवसर पर कर्नल कुंवर प्रताप सिंह, वीणा अग्रवाल,  बी. आर. सतीजा, यशवन्त शेखावत, मीनू शर्मा, मिनाक्षी सक्सेना, ममता सिंह अमृत, मोहल लाल, निर्मल सिंह, रामबहादुर सिंह आदि प्रमुख रूप से उपस्थित रहे ।

दीप प्रज्ज्वलित कर कार्यक्रम का शुभारम्भ करते मुख्यातिथि

कार्यक्रम में प्रस्तुती देते बच्चे

 

editor1

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *