तीर्थों व क्रांतिकारियों की भूमि रहा है मेवात : विजय कुमार

गुरुग्राम, विसंके।  मेवात मित्र मंडल गुरुग्राम क्षेत्र द्वारा गत 7 जनवरी को सिध्देश्वर मंदिर स्कूल में एक मिलन कार्यक्रम का आयोजनकिया गया। किन्हीं परिस्थितियों के कारण मेवात छोड़कर गुरुग्राम क्षेत्र में आकर रहने वाले लोग कार्यक्रम में शामिल हुए। कार्यक्रम की अध्यक्षता भीमसेन वासुदेव (जेवर महल, गुरुग्राम) ने की तथा मुख्य वक्ता के तौर पर राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के हरियाणा प्रान्त प्रचारक विजय कुमार मौजूद रहे। कार्यक्रम में मुख्य अतिथि गिरिराज ढींगरा व विशिष्ट अतिथि पदम् चंद आर्य, शिवकुमार (विभाग प्रचारक गुरुग्राम), श्याम सुंदर (विभाग कार्यवाह गुरग्राम), नरेश भी उपस्थित रहे ।

विजय कुमार ने मेवात के प्राचीन इतिहास और वहां की परंपराओं पर प्रकाश डालते हुए कहा कि मेवात तीर्थों व क्रांतिकारियों की भूमि रहा है और यह हमारी जन्मभूमि है। इसलिए इसकी सुरक्षा व सम्भाल करना हमारी जिम्मेदारी है। बदलते हालात से स्थानीय लोगों विशेषकर हिन्दू समाज के लोगों की समस्याओं पर भी उन्होंने अपने विचार रखे। विभिन्न समस्याओं के समाधान के लिए हम क्या कर सकते हैं इस पर विजय कुमार ने कहा कि मेवाती समाज को अपनी गौरवपूर्ण संस्कृति को बचाने के लिए स्वयं आगे आकर एकजुटता से कार्य करना होगा। समय-समय पर अपने ग्राम में जाकर वहां की संभाल और वहां पर रह रहे समाज के लोगों के साथ एक आत्मीयता बनानी होगी। उन्होंने कहा आज समय बदल रहा है। मेवात गौरक्षा व गौपालन में अपनी भूमिका बढ़ा रहा है। विभिन्न सामाजिक संस्थाओं द्वारा मेवात में किये जा रहे कार्यों का भी उल्लेख करते हुए बताया कि मेवात अध्ययन केंद्र, संघेल गौशाला, विद्या भारती विद्यालय, एकल विद्यालय, मेवात मित्र मंडल, विचार गोष्ठियां इत्यादि कार्य मेवात में जनजागरण के लिए किये जा रहे हैं ताकि वहाँ की संस्कृति वहां का गौरवशाली इतिहास हम सबको याद रहे। उन्होंने कहा हमें अपने सपने को पूरा करने के लिए एक संगठन की तरह कार्य करना होगा।

 

editor1

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *