गांव की बेटी ने सपने को हकीकत में बदल दिया  

फतेहाबाद, विसंके।  भट्टू के पास स्थित छोटे से गांव सूलीखेड़ा में एक बच्ची प्रियंका ने गांव के आसमान में उड़ते हवाई जहाज को देखा। हवाई जहाज को देख अपने दादा जिसुखराम बैनिवाल से पूछा जहाज कैसे उड़ता है और इसे कौन उड़ाता है? दादा ने बच्ची ​प्रियंका की बात को हंसी में टाल दिया। लेकिन प्रियंका ने अपने दादा और पिता सूरत सिंह बैनिवाल को साफ शब्दों में कहा कि वो भी जहाज उड़ायेगी। बचपन के इस छोटे से प्रसंग को प्रियंका ने अपने जीवन का लक्ष्य बना लिया और लक्ष्य को पाने के लिए दिन—रात एक कर दिया।
सपनों के हकीकत में बदलने का समय आया
प्रियंका के भाई बीरेंद्र बैनिवाल ने बताया कि वर्ष 2006 में कड़ी मेहनत कर अपने बचपन के सपने को पूरा करने के दिशा में पहला कदम रखा। प्रियंका ने वर्ष 2007 में 12 वीं की परीक्षा उत्तीर्ण की और इन्डियन एविएशन बोर्ड के एग्जाम में अच्छी रैंकिंग हासिल करके देहली फलाईंग क्लब से अपने सपने को साकार करने की शुरूआत की उसके बाद डब्ल्यूसीसी एक्सेल एयर एविएशन फलाईंग स्कूल, फिलिपिन्स से अपना प्रशिक्षण पूर्ण किया।
पायलट बनने का सफर
फिलिपिन्स से अपना प्रशिक्षण पूरा करने के बाद प्रियंका ने सात चरणों की कठिन परीक्षा और प्रेक्टिकल व साक्षात्कार को बखूबी उत्तीर्ण करते हुए इंडिगो एअरलाइंस में बतौर पायलट नियुक्ति हासिल की है। इस नियुक्ति पर उनके परिवार के सदस्यों में खुशी का माहौल है। वहीं प्रियंका ने इस उपलब्धि का श्रेय अपने माता-पिता और अपनी मेहनत व लग्न को दिया है। प्रियंका के पति सूर्य प्रताप सिंह चहल बॉर्डर सिक्योरिटी फोर्स में डिप्टी कमांडेंट के पद पर हैं तथा वर्तमान में फिरोजपुर पंजाब में तैनात हैं।
तोड़ी गांव की रुढ़ि
सूलीखेड़ा गांव छोटा होने के साथ—साथ ग्रामीण क्षेत्रों की तरह रुढ़ियों से भी ग्रस्त है। यहां पर भी लड़कियों को घर के काम सिखाने पर ज्यादा जोर दिया जाता है। नौकरी की बात आती है तो यहां पर लड़कियों को टीचर्स बनने तक ही सीमित रखे जाने की वकालत की जाती है। लेकिन प्रियंका ने ग्रामीणों के आगे साबित कर दिया कि नारी शक्ति को कम आंकना आज के युग में बिल्कुल गलत है क्योंकि जिनमें कुछ कर गुजरने की तमन्ना और हौंसला हो उन्हें कभी न कभी सफलता अवश्य मिल ही जाती है।
बन गई गांव के लिए प्रेरणा
प्रियंका अब अपने गांव के साथ—साथ सभी उन लड़कियों के लिए प्रेरणा बन चुकी है, जो सपने देखती है और कुछ बनना चाहती है। प्रियंका लड़कियों से कहती है कि सपने देखो और उसे पूरा करने के लिए दिन—रात एक कर दो, मंजिल अवश्य मिलेगी।

प्रियंका का फोटो

editor1

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *