खेलों के माध्यम से स्वास्थ्य, चरित्र और राष्ट्र का निर्माण मुख्य उद्देश्य

क्रीड़ा भारती ने किया अखाड़ा सम्मान समारोह का आयोजन

कैथल, (विसंके)। क्रीड़ा भारती द्वारा अखाड़ा सम्मान समारोह कार्यक्रम का आयोजन किया गया। कार्यक्रम में क्रीड़ा भारती के अध्यक्ष जितेन्द्र ने बतौर मुख्यातिथि तथा करनाल विभाग के बौद्धिक प्रमुख नरेंद्र ने मुख्य वक्ता, ज़िला कार्यवाह प्रीतम, सीमा गोस्वामी विशिष्ट अतिथि के तौर पर शिरकत की। कार्यक्रम में हनुमान अखाड़ा, कैथल से कृष्ण पहलवान, सूर्य अखाड़ा जाखोली से दवेंद्र, मदन अखाड़ा से मदन पहलवान, भीम अखाड़ा कुराड़ से ओमप्रकाश, रमना अखाड़ा से जितेंद्र, हरिसिंह अखाड़ा से हरिसिंह, बुना अखाड़ा से नरेश पहलवान, शेरगढ़ से रमेश सहित अनेक अखाड़ा संचालकों, पहलवानों, कोच, सेवानिवृत ज़िला खेल अधिकारी  व बहुत से खेल प्रेमी उपस्थित रहे।

क्रीड़ा भारती के अध्यक्ष जितेन्द्र ने क्रीड़ा भारती के कार्यों के बारे में जानकारी देते हुए बताया की खेलों के माध्यम से चरित्र का निर्माण करना, चरित्र निर्माण से राष्ट्र का निर्माण करना उनका मुख्य उद्देश्य है। देश के अन्य स्थापित खेलों के साथ स्वदेशी खेलों एवं ग्रामीण क्षेत्रों के परम्परागत खेलों को बढावा देना है, ताकि समाज के सभी वर्ग मैदान पर आकर खेलें तथा खेलों के माध्यम से स्वस्थ शरीर, तीक्ष्ण बुद्धि, मानसिक व संस्कार प्राप्त कर खिलाड़ी में राष्ट्रिय चरित्र की भावना का निर्माण हो। किसी एक खेल का विचार न रखते हुए सभी खेलों का विचार करने वाली संघटना का रूप “क्रीडा भारती” है। इस अवसर पर अखाड़ा संचालकों, कोचों और पहलवानों को सम्मानित भी किया गया।

पहलवानों को सम्मानित करते मुख्यातिथि

कार्यक्रम में श्रोताओं को सम्बोधित करते वक्ता।

 

editor1

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *