कलाकारों के उत्थान के लिए प्रदेश सरकार प्रयासरत: कविता जैन

हरियाणा कला परिषद ने आयोजित किया राज्य स्तरीय नृत्य प्रतियोगिता एवं रागनी गायन कार्यक्रम
हरियाणा कला परिषद द्वारा गोहाना (सोनीपत) के हंसध्वनी सभागार में राज्य स्तरीय नृत्य प्रतियोगिता एवं रागनी गायन कार्यक्रम का आयोजन किया गया। कार्यक्रम में मुख्यातिथि के तौर पर मंत्री कविता जैन जी ने शिरकत की तथा अध्यक्षता राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के सह प्रांत संघ चालक पवन जिंदल ने की। प्रदेशभर से आए कलाकारों ने नृत्य कला से सभी दर्षकों को मंत्रमुग्ध कर दिया। प्रथम पुरस्कार, ओ.एस.डी.ए.वी. पब्लिक स्कूल, कैथल, द्वितीय पुरस्कार, राजेष छिकारा एंड पार्टी चौधरी देवी लाल विष्व विद्याालय, सिरसा तथा तृतीय पुरस्कार जावेद पार्टी, गुड़गांव ने प्राप्त किया। प्रथम विजेता टीम को एक लाख रूपये, द्वितीय विजेता को 75,000 रूपये तथा तृतीय विजेता टीम को 50,000 रूपये की राशि प्रदान की गई। साथ ही मंड़ल स्तर के रागनी गायन विजेता कुमारी कोमल, कुमारी पूजा, सोनीत सिंह, दिलावर कौषिक, सुनील कुुमार, कोमल वशिष्ट, मिनाक्षी वर्मा, श्याम लाल तथा युसुफ खान को प्रथम, द्वितीय तथा तृतीय पुरस्कार प्राप्त करने पर क्रमश :  30,000 रुपये 20,000 रुपये, 10,000 रुपये की राशि प्रदान की गई।

विजेता कलाकारों को पुरस्कृत करती मंत्री कविता जैन।


हरियाणा कला परिषद के निदेषक अजय सिंहल ने, माननीय मंत्री कविता जैन के समक्ष कलाकारों के उत्थान एवं प्रोत्साहन की बात रखते हुए कहा कि खिलाडि़यों की तरह कलाकारों को भी उत्थान हेतु 10 लाख रूपये की राशि यदि सरकार दे तो इससे कलाकारों को प्रोत्साहन मिलेगा। मंत्री कविता जैन ने दर्षकों को सम्बोधित करते हुए कहा कि वे इस प्रस्ताव को सरकार के समक्ष जरूर रखेंगी और साथ ही आश्वासन भी दिया कि संस्कृति विभाग तथा हरियाणा सरकार कलाकारों के हित के लिए सदैव खड़े रहेंगे। कार्यक्रम का मंच संचालन कला परिषद के कार्यक्रम अधिकारी सत्यवान शर्मा ने किया। कार्यक्रम में नगर परिष्द की चेयरपर्सन रजनी विरमानी, भाजपा के जिलाध्यक्ष धर्मवीर नांदल, हरियाणा शिक्षा बोर्ड के चेयरमैन जगबीर मलिक, पिछड़ा वर्ग आयोग के अध्यक्ष रामचंद्र जांगड़ा उपस्थित रहे। कार्यक्रम के सफल आयोजन में संस्कार भारती की गोहाना ईकाई ने विशेष भूमिका निभाई।

editor1

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *