अपनी लड़ाई किसान को स्वयं लड़नी होगी : ओमसिंह

सोनीपत, विसंके| भारतीय किसान संघ के प्रदेश अध्यक्ष ओम सिंह ने कहा कि प्रदेश में अनेक सरकारों ने शासन किया लेकिन किसान की समस्या जस की तस रही| इसका मूल कारण है कि किसान लड़ाई से दूर रहना चाहता है और सरकारों के बल सारा काम करना चाहता है। ओम सिंह रामकृष्ण साधना केंद्र में भारतीय किसान संघ की मासिक बैठक को सम्बोधित कर रहे थे|
उन्होंने कहा कि कोई भी सरकार नहीं चाहती किसानों का भला हो और इसका मूल कारण है किसानों की संघर्ष के प्रति उदासीनता| भारतीय किसान संघ के प्रदेश महामंत्री विरेंद्र ने कहा कि अगर किसान संगठित है तो अपनी समस्याओं का स्वयं समाधान कर सकता है| सोनीपत में पिछले दिनों गन्ना मिल आंदोलन, खनन आंदोलन,  केजीपी हाइवे आंदोलन आदि सफलता का कारण किसानों का संगठन था। गन्ना किसानों की पेमेंट उत्तर प्रदेश गन्ना मिलो में फसी हुई है| सरकार से अपेक्षा है वह उत्तरप्रदेश के गन्ना मिलो से किसानों की छह करोड की पेमेंट दिलाये। उन्होंने कहा कि प्रदेश में हर खंड में समिति गठित  की जाएगी| संगठन को मजबूत करने के लिए सदस्यता अभियान चलाया जाएगा| 2018 में भारतीय किसान संघ हरियाणा एक लाख से अधिक सदस्य पूरे प्रदेश में बनाने जा रहा है| उन्होंने कहा कि नवंबर माह में सभी खंड केंद्रों पर किसान संघ की बैठकें तय हुई हैं| किसानों से जुड़ी समस्याओं के लिए जितनी भी लंबित योजना सरकार की है उनको शीघ्रता से पूरा करवाने के लिए सरकार पर दबाव बनाया जाएगा| भूमि अधिग्रहण के बचे हुए मुआवजे किसानों को जल्दी देने की मांग भी उठाई जाएगी| बैठक में भिघान गांव के नजदीक टोल का भी विरोध  किया गया। किसान संघ ने मांग की कि 20 किलोमीटर तक निशुल्क टोल किया जाए। यदि सरकार उनकी मांग नहीं मानती है तो किसान संघ इसके लिए लड़ाई लड़ने के लिए तैयार है। इस बैठक को भारतीय किसान संघ के जिलाध्यक्ष ताहर सिंह, भारत भूषण, रमेश दहिया, दिनेश, चरण सिंह चौहान, अनुराग सिंह मलिक, संत कुमार, अंतिल, नंदकिशोर अंतिल ने किसानों को संबोधित किया|

editor1

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *