अखंड भारत के निर्माण का संकल्प लें युवा: भूषण  कुमार

bhushan g

विश्व संवाद केंद्र , अंबाला  राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ ने युवाओं से आहवान किया है कि  राजनीतिक अखंडता आए या नहीं आए, युवा अखंड भारत के निर्माण का संकल्प लें। परंतु यह तभी होगा जब हम सभी जातपात, क्षेत्रवाद से ऊपर होकर संगठित होंगे। तुष्टिकरण की नीति के चलते देश विषम परिस्थितियों से गुजर रहा है।
यह आहवान संघ के विभाग प्रचारक श्रीमान भूषण कुमार ने बृहस्पतिवार रात आयोजित अखंड भारत दिवस पर किया। पीकेआर जैन स्कूल में आयोजित कार्यक्रम की अध्यक्षता प्रिंसिपल ज्योत्स्ना सचदेवा ने की। संगोष्ठी को संबोधित करते हुए संघ प्रचारक ने कहा कि भारत भूमि हमारी धर्म भूमि, कर्म भूमि, देव भूमि है जिसे हम मातृ भूमि कहते हैं। समय और परिस्थिति के कारण अतीत का विशाल भारत कटता
कटता बहुत छोटा रह गया है। उन्होंने कहा किआज समय की जरूरत है कि हम सभी मां भारती की संतानें इसके पूर्व विराट स्वरूप को जानें, इसके भूगोल को, इतिहास को, इसकी वैज्ञानिकता को, महानता को जानें। देश की नदियां, पर्वत, पठार, समुद्र, मैदान आदि जड़ नहीं अपितु जीवंत हैं।
उन्होंने कहा कि देश का प्रथम प्रधानमंत्री बने पंडित जवाहर लाल नेहरू ने कांग्रेस के अन्य नेताओं के साथ रावी का पानी हाथ में लेकर अखंडित भारत स्वतंत्र करवाने की शपथ ली थी लेकिन दो टुकड़े करवाकर कुर्सी पर बैठ गए। एक पेन से रेखा खींच कर दो राष्ट्र बना दिए गए किंतु आज भी भारत के और टुकड़े करने का षडयंत्र चल रहा है। तुष्टिकरण की कांग्रेस की नीतियों ने इसे बढ़ावा दिया है। यदि अंग्रेज भक्तों ने कांग्रेस की स्थापना नहीं की होती तो देश कभी का आजाद हो लिया होता। जो
अंग्रेज 1905 से 1911 तक  बंगाल के दो टुकड़े नहीं कर सका वह 1947 में देश के दो टुकड़े करने में कैसे और क्यों सफल हो गया, इस पर विचार करने की जरूरत है। उन्होंने कहा कि आजादी दिवस उल्लास से मनाएं किंतु उस घाव को भी याद रखें जिसने हमें खंडित होने का घाव दिया। हमारी जमीन छीन गई, लाखों अपने बेघर हो गए या बिछुड़ गए। आज हमें यह सोचना होगा कि हम अखंड भारत के निर्माण के लिए क्या कर सकते हैं। भले ही हम राजनीतिक अखंडता न ला पाएं। वर्तमान परिवेश में राजनीति दलों के झंडों को देखकर उनकी मानसिकता का अंदाजा लगाया जा सकता है। जिसके झंडे में जितना ज्यादा हरा रंग होगा वो उतना हिंदू विरोधी होगा। उन्होंने कहा कि हमें इतिहास ठीक से नहीं पढ़ाया गया जिसकी वजह से अपनी मान एवं प्राचीन संस्कृति को भूलते जा रहे हैं। कार्यक्रम अध्यक्ष ज्योत्स्ना सचदेवा ने संघ को राष्ट्र भक्त संगठन बताते हुए युवाओं को देश से प्रेम करने और समर्पित होकर जीवन जीने की प्रेरणा दी। इस मौके पर नगर कार्यवाह विवेक गुप्ता सहित कई अन्य संघ अधिकारी भी मौजूद रहे।

editor1

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *